इस कदर थी पिता से नफरत कि अंतिम संस्कार में भी नहीं पहुंची यह अभिनेत्री

1 min read
rekha

बॉलीवुड की सदाबहार अभिनेत्री में शुमार रेखा की अदाकारी और उनकी ज़िंदगी की चर्चा लोग आज भी करते हैं। बड़े पर्दे पर अपनी खूबसूरती और बेहतरीन अदाकारी के अलावा वे अपनी निजी ज़िंदगी को लेकर भी काफी सूर्खियां बटोरती रही हैं। अमिताभ बच्चन और रेखा के अफेयर की बात हो या रेखा की शादी की, उनकी पर्सनल लाइफ कई बार अखबार के पन्नों पर छपती रही है। लेकिन रेखा के संबंध अपने पिता से किस तरह के थे, ये बात बहुत ही कम लोग जानते होंगे।

दरअसल, रेखा जिस बैकग्राउंड से आती हैं वो पूरी तरह से फिल्मी है। उनके पिता जेमिनी गणेशन दक्षिण भारतीय फिल्मों के सुपरस्टार थे, वहीं उनकी मां भी साउथ इंडस्ट्री की जानी-मानी अभिनेत्री थी। बताया जाता है कि रेखा के पिता ने चार शादियां की थीं। अपने पिता के साथ उनके रिश्ते शुरूआत से ही डगमगाए हुए थे।

खुद किया था खुलासा

रेखा ने कई बार इंटरव्यू में इस बात का खुलासा किया है कि उनके अपने पिता से संबंध अच्छे नहीं थे। इतना ही नहीं, रेखा की बायोग्राफी ‘रेखा: द अनटोल्ड स्टोरी’ में भी उनके पिता के साथ उनके रिश्ते को लेकर खुलासा किया गया है कि वे उन्हें पसंद नहीं करती थीं। किताब में इस बात का खुलासा भी किया गया है कि रेखा की मां पुष्पांजलि शादी से पहले ही प्रेग्नेंट हो गई थीं आर शादी के बाद उन्होंने रेखा को जन्म दिया था।

मजबूर थीं रेखा (Rekha)

rekha actress

एक वक्त था जब रेखा के पिता जेमिनी गणेशन अपने करियर में ऊंचाईयों पर थे। उस वक्त वे एक से बढ़कर एक फिल्में साइन कर रहे थे। उनकी लोकप्रियता साउथ फिल्म इंडस्ट्री में बढ़ती जा रही थी। और एक तरफ रेखा की मां का करियर बच्चों और पति को संभालते हुए खत्म होता जा रहा था। आर्थिक तंगी के चलते रेखा को 13 साल की उम्र में ही पढ़ाई छोड़नी पड़ी थी। और उस वक्त फिल्म इंडस्ट्री में काम करने की इच्छा न होने के बावजूद भी अभिनेत्री रेखा को एक्टिंग की दुनिया में कदम रखना पड़ा था।

पिता ने नहीं की थी मदद

पति से अलग होने के बाद अभिनेत्री रेखा की मां और रेखा के पास कोई ऑप्शन नहीं बचा था। काम न मिलने की वजह से उन्हें काफी स्ट्रगल करना पड़ रहा था। रेखा के पिता जेमिनी गणेशन उस वक्त करियर की ऊंचाइयों पर थे, वो चाहते तो रेखा को काम दिलाने में मदद कर सकते थे, लेकिन उन्होंने रेखा की मदद नहीं की। ऐसे में रेखा का गुस्सा और नफरत और बढ़ गई और उनके अपने पिता के साथ संबंध खराब होते चले गए। रेखा अपने पिता से बात करना भी पसंद नहीं किया करती थीं।

जब हुआ दोनों का आमना-सामना

वर्ष 1994 में जब जेमिनी गणेशन को लाइफटाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से नवाज़ा जा रहा था तो इस दौरान रेखा और उनके पिता का आमना-सामना हुआ था। दोनों ने एक दूसरे को देखा और यह दोनो इस पल बेहद भावुक हो उठे थे। अपनी बेटी रेखा के हाथों ही पिता जेमिनी गणेशन को यह पुरस्कार मिल रहा था। ऐसे वक्त पर पिता की आंखों में आंसू थे। अपने पिता को अवॉर्ड देने के बाद भावुक हुईं रेखा ने उनके पांव भी छुए थे और उनका आशीर्वाद भी लिया था।

आखिरी वक्त पर नहीं पहुंची

इतना सब हो जाने के बावजूद भी अभिनेत्री रेखा के मन में अपने पिता के प्रति नफरत बरकरार कहीं न कहीं थी। आप इसका अंदाज़ा इस बात से लगा सकते हैं कि अपने पिता के आखिरी वक्त में रेखा उनके पास मौजूद नहीं थीं। जी हां, रेखा के पिता का वर्ष 2005 में निधन हो गया था, तब रेखा अपने पिता के अंतिम संस्कार नें भी नहीं गई थीं। रेखा से पूछे जाने पर उन्होंने इस बात की सफाई देते हुए कहा था कि मनाली में किसी फिल्म की शूटिंग में वयस्त होने के कारण वे पिता के अंतिम संस्कार में नहीं जा पाईं।

इस तरह से लगता है कि रेखा ने हमेशा इस बात को याद रखा कि उनके पिता की वजह से उन्हें और उनकी मां को जीवन में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। वे अपने पिता से इस कदर नफरत करती थीं कि वे उनके अंतिम संस्कार में नहीं पहुंची, जबकि इसके लिए शूटिंग छोड़ना किसी भी बेटी के लिए कोई बड़ी बात नहीं हो सकती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »