सारी रात मालिक को देखता था कुत्ता रहस्य जानकर मालिक रह गया हैरान

1 min read

कुत्ता!! कितनी बेकार गाली लगती है ना, किसी को भी हम वाहियात बनाने के लिए कह देते हैं और फिर उसे नीचा दिखा कर चले जाते हैं। लेकिन कभी-कभी ना ये कुत्ते भी इंसानों से ज्यादा वफादार (Dog Story in Hindi) निकलते हैं, और कई बार यह साबित भी हुआ है कि कुत्ते ही क्या कई जानवर बहुत ही मददगार साबित हुए हैं।

आज मैं एक कहानी बताता हूँ, एक कुत्ते की, एक ऐसा कुत्ता जो एक मालिक के पास रहता था, कुत्ते के मालिक ने उसे एक डॉग शेल्टर से लिया था, मालिक का भी अपना कोई नहीं था तो मालिक उसी कुत्ते को बहुत प्यार करता था, उसके साथ खेलना, थोड़ा प्यार करना और देखभाल करना, यहीं मालिक को बहुत पसंद था। लेकिन एक बात थी जो मालिक के प्यार को कुत्ते से अलग करती थी, और वो ये कि रात में मालिक जहां सोता था कुत्ते को भी बगल में ही सोने की जगह दिया था, लेकिन कुत्ता तो खैर कुत्ता था इसलिए मालिक ने इस दोनों जगह के बीच में लोहे की बाड़ी लगा दी थी। कुछ दिन बीतते गए एक दिन रात में सोने के बीच में ही मालिक की आंख खुल गई, तो मालिक ने देखा कि कुत्ता लोहे की बाड़ी के पास आकर अपने दो पैर ऊपर चढ़ाए हुए मालिक को देख रहा है। मालिक ने सोचा कि कहीं रात में मेरी तरह ही कुत्ते की भी नींद खुल गयी होगी इसलिए उसने ध्यान नहीं दिया। लेकिन ये क्या ऐसा तो रोज ही होने लगा कि रात में मालिक कुत्ते को जब भी देखता था कुत्ता ऐसे ही रात भर जगा हुआ मालिक को देखते ही रहता था। अब मालिक को लगा कि शायद कुछ वातावरण बदला है इस कारण कुत्ता परेशान सा महसूस कर रहा है तो उसने कुत्ते की और देखभाल करनी शुरू कर दी। उसके साथ थोड़ा ज्यादा खेलने भी लगा जिससे हो सके कि थकने से कुत्ते को रात में नींद आ जाये, उसने कुत्ते के लिए वहां एक अच्छा बिस्तर भी लगा दिया लेकिन ये क्या अब भी हालत ऐसी ही बनी रही और कुत्ता रात भर जगता रहा।

इससे मालिक की चिंता बढ़ने लगी, मालिक परेशान था कि आखिर कारण क्या है कि कुत्ता रात भर जगता है और मुझे ही देखते रहता है। ऐसा बहुत कम संभव है कि कोई कुत्ता (Dog Story in Hindi) दिन भर इतना खेलने के बाद भी रात में नहीं सो रहा है, यहीं सोच कर मालिक कुत्ते को डॉक्टर के पास ले गया, लेकिन मालिक हैरान रह गया जब डॉक्टर ने सभी जांच करने के उपरांत मालिक को बताया कि माफ कीजिएगा, लेकिन आपके कुत्ते को कोई भी बीमारी नहीं है। यह नॉर्मल/ सामान्य स्थिति में है।

अब मालिक पहले से ज्यादा परेशान हो गया, अब हालत यह थी कि मालिक भी कुत्ते के साथ सारी रात जगता था, कुत्ता अब फिर बाड़ी पर खड़े होकर मालिक को सारी रात देखते रहता था, परेशान मालिक को जब कुछ ना सुझा तो वह वापस उसी डॉग शेल्टर होम गया, उसे उम्मीद थी कि इन्हें कुछ ना कुछ ख़बर जरूर होगी कि कुत्ता जगता क्यों है। उन लोगों से काफी पूछताछ के बाद जो मालिक को पता चला वो हैरान कर देने वाला था, बात ही कुछ ऐसी थी कि मैं लिखते हुए भी रो रहा हूँ, शायद कहानी के इस अंतिम भाग में एक तरफ जहां कुत्ते के जगने का रहस्य सुलझ जाएगा वहीं दूसरी ओर हो सकता है आपकी आंखें भीग जाएं।

ऐसे तो हम सब कुत्तों को कुत्ते ही समझते हैं लेकिन कुत्ते हमें हमेशा मानव ही मानते हैं, अपना मालिक ही मानते हैं, शेल्टर होम के लोगों ने बताया कि इस कुत्ते के पिछले मालिक की पत्नी गर्भवती थी इसलिए परेशानी की वजह से इसके पिछले मालिक ने रात में सोते समय उठाकर यहां लाकर छोड़ दिया। इस कुत्ते ने उसे अपना घर मान लिया था लेकिन अचानक रात में ऐसे छोड़ देने के कारण कुत्ता उदास हो गया, और यह अपनी नींद भूल गया है। अब इसे यह लगता है कि फिर कहीं रात को सोने पर इसके साथ ऐसा ही नहीं हो जाये इसलिये यह रात भर आपको देखते रहता है। इतना सुनना था कि मालिक की आंखें भर आईं, और वह भागे-भागे घर पहुंचा (Dog Story in Hindi) और उसके बाद कुत्ते का बाड़ा वहां से हटा दिया, फिर उसने कुत्ते के बिस्तर को अपने बगल में लगा दिया, जिससे कुत्ते को यकीन हो जाये कि यह मालिक वैसा नहीं करेगा।

ये कहानी बस कहानी नहीं है, एक संवेदना है। ऐसी संवेदना जो ये बेजबान नहीं बोल या बता पाते और हम इसे नजरंदाज करते रहते हैं और इससे अनभिज्ञ रहते हैं। कहानियां एक ही नहीं कई हैं, वफादार एक ही जीव नहीं कई है, लेकिन तय हमें करना है कि कौन सी कहानी हमें जगाती है, किस कहानी से हम अपने अंदर के जानवर को मार कर अपने अंदर का जीव जगाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »