अगर आप भी करते हैं Zoom App का इस्तेमाल, तो इन तरीकों से सेफ करें अपना डेटा

1 min read

जब से लॉकडाउन हुआ है तब से लोग एक दूसरे से कनेक्ट होने के लिए कई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ऐप का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस बीच जिस ऐप को सबसे ज्यादा बार डाउनलोड किया गया है वो ऐप है ज़ूम ऐप (Zoom app)। ये ऐप लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्यादा डाउनलोड होने के कारण पोप्यूलर हो गई है। हालांकि यह ऐप सिक्योरिटी रीज़न की वजह से भी सुर्खियों में रही है।

ज़ूम ऐप (Zoom app) के अनसेफ सिक्योरिटी रीज़न को देखते हुए कई कंपनियों ने इस ऐप के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। इससे इस ऐप की मार्केट वेल्यू भी कहीं न कहीं प्रभावित हुई है। वहीं कई लोगों का मानना है कि इस ऐप से किसी भी तरह की दिक्कत उन्हें देखने को नहीं मिली है। वहीं इस ऐप के यूजर बेस ने 4 महीनों में 20 प्रतिशत का इजाफा किया है। इस ऐप की पॉपुलेरिटी की वजह से कंपनी ऐप के अपडेट्स के जरिए सिक्ययोरिटी की खामियों को दूर कर रही है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि इसका इस्तेमाल करते वक्त आप अपने डेटा की सुरक्षा किस प्रकार कर सकते हैं?

ज़ूम ऐप से डेटा सेफ करने के लिए अपनाएं ये तरीके: (Secure your Data in Zoom App) 

1. करें पासवर्ड का उपयोग (use meeting password)

अगर आप कोई ऑफिशियल मीटिंग कर रहे हैं तो आप मीटिंग के लिए पासवर्ड का इस्तेमाल करें। यह हैकर्स से आपकी मीटिंग के ज़रूरी वार्तालाप और कॉन्फिडेंशियल चीज़ों को बचाने का सबसे आसान और प्रभावी तरीका है। आप वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान एक पासवर्ड जनरेट करके अपने करेंस्पॉडिंग डेटा का बचाव कर सकते हैं।

2. वेटिंग रूम फीचर (waiting room feature in zoom app)

ज़ूम ऐप में मौजूद इस फीचर से आप एडमिन मीटिंग में शामिल होने वाले प्रतिभागियों को नियंत्रित कर सकते हैं। एडमिन इस फीचर के ज़रिए एक एक करके इसमें शामिल होने वाले लोगों को इसका एक्सेस दे सकता है।

3. इस ऑप्शन को करें डिसेबल (disable before host feature)

ज़ूम ऐप में जॉइन बिफोर होस्ट के ऑप्शन को डिसेबल कर दें। इस फीचर के ज़रिए आप अपनी मीटिंग में अनचाहे गेस्ट को शामिल होने से रोक पाएंगे। इस फीचर में होस्ट से पहले कोई भी गेस्ट शामिल नहीं हो पाएगा।

4. मीटिंग को कर दें लॉक (lock meeting)

 

इस ऐप पर आपको अपनी मीटिंग को लॉक करने का ऑप्शन भी दिया जाता है। इस ऑप्शन की मदद से आप उन सभी लोगों को आपकी मीटिंग में शामिल होने से रोक पाएंगे जिनके पास इस मीटिंग का यूनिक आईडी और पासवर्ड मौजूद है। यानी आपकी मर्ज़ी से आपकी मीटिंग में परिंदा भी पर नहीं मार सकता।

5. रिमूव्ड पार्टिसिपेंट (remove participant in zoom app)

यदि आप एडमिन हैं और किसी पार्टिसिपेंट को मीटिंग से रिमूव कर देते हैं तो आपको उसे दोबारा ऐड या रिजॉइन करने से रोकने का ऑप्शन भी मिलता है। आप इस फीचर को एनेबल करें। इस फीचर से ज़ूम ऐप (Zoom app) पर कोई भी मीटिंग में दोबारा से खुद को जॉइन नहीं कर पाएगा।

तो ये थे कुछ आसान तरीके जिससे आप ज़ूम ऐप (Zoom app) का इस्तेमाल बिना घबराए कर सकते हैं। इस ऐप के लॉन्च होने के कुछ महीनों बाद ही इसकी पॉपुलेरिटी के कारण कंपनी ने इसके सिक्योरिटी एक्शन पर ज्यादा फोकस नहीं किया था। यह बात खुद कंपनी ने भी कबुली थी। हालांकि जैसे-जैसे इस ऐप के अपडेट आते जाएंगे यह ऐप सुरक्षित हो जाएगी। तब तक आप इन तरीकों को अपना सकते हैं।

Translate »